Tue. Jul 5th, 2022

दिल्लगी शायरी


1. घर से बाहर कॉलेज जाने के लिए वो नकाब में निकली, सारी गली उनके पीछे निकली, इनकार करते थे वो हमारी मोहब्बत से, ओर हमारी ही तस्वीर उनकी किताब से निकली ।।।।


2. उस जैसा मोती पूरे समुंद्र में नहीं है, वो चीज मांग रहा हूं जो मेरे मुकद्दर में नहीं है, किस्मत में लिखा तो मिल जायेगा मेरे ख़ुदा, वो चीज अदा कर जो मेरे किस्मत में नहीं है ।।।।


3. जादू है उसकी हर एक बात में, याद आती है उसकी दिन और रात में, कल जब देखा था में सपना रात में, तब भी उसका ही हाथ था मेरे हाथ में ।।।।


4. कोन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे, हम तो समंदर है दरिया में उतर जायेंगे, वो तरस जाएंगे प्यार की एक बूंद के लिए, हम तो बादल है प्यार के….किसी और पर बरस जायेंगे ।।।।


5. शायर तो हम है शायरी बना देंगे, आपको शायरी में कैद कर लेंगे, कभी सुनाओ हमे अपनी आवाज, आपकी आवाज को हम गजल बना देंगे ।।।।


6. ना हम कुछ कह पाते है, ना वो कुछ कह पाते है, एक दूसरे को देखकर गुजर जाया करते है, कब तक चलता रहेगा ये सिलसिला, ये सोचकर दिन गुजर जाया करते है ।।।।


7. आंखों में आ जाते है आंसू, फिर भी लबो पे हंसी रखनी पड़ती है, ये मोहब्बत भी क्या चीज है यारो, जिससे करते है उसीसे छुपानी पड़ती है ।।।।


8. एक जुर्म हुआ है हमसे एक यार बना बैठे है, कुछ अपना उसको समझ कर सब राज बता बैठे है, फिर उसकी राह में दिल और जान गवा बैठे है, वो याद बहोत आते है जो हमको भुला बैठे है ।।।।


9. तुम्हे देखा तुम्हे चाहा तुम्हे ही दिल भी दे डाला, अब अरमान है इतना की तुम मेरे सामने आओ, कुछ तुम कहो कुछ कुछ हम कहे इकरार हो जाए, मीट जाए सारी दुनिया और प्यार हो जाए ।।।।


10. हम चाहे न चाहे निगाहे मिल ही जाती है, निगाहे तो जरिया है दो दिलों के मिलने का, जब मिलने हो दो दिल, निगाहे मिल ही जाती है ।।।।


DILLAGI SHAYARI

दिल्लगी शायरी


11. कभी कभी ऐसा होता है, प्यार का असर देर से होता है, आपको क्या लगता हम आपके बारे कुछ नही सोचते, पर हमारी हर बात में आपका जिक्र होता है ।।।।


12. आंखों में दोस्ती जो पानी है, हुस्न वालो की ये मेहरबानी है, आप क्यों सर झुकाए बैठे है, क्या आपकी भी यही कहानी है ।।।।


13. जब खामोश आंखों से बात होती है, ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है, तुम्हारे ही खयालों में खोए रहते है, पता नही कब दिन और जब रात होती है ।।।।


14. मेरे वजूद में तू काश उतर जाए, में देखू आइना और तू नजर आए, तू हो सामने और वक्त ठहर जाए, ये जिंदगी तुझे यूं ही देखते हुए गुज़र जाए ।।।।


15. फूल जब मांगते है बरसो दुआ, तब बहारों की कली खिलती है, तुम तो आई हो जन्नत से, ऐसी मेहबूबा जमाने में कहा मिलती है ।।।।


16. जब खुदा ने इश्क बनाया होगा, तब उसने भी इसे आजमाया होगा, हमारी औकात ही क्या है, कमबख्त इश्क ने तो खुदा को भी रुलाया होगा ।।।।


17. वो जिंदगी ही क्या जिसमे मोहब्बत नही, वो मोहब्बत ही क्या जिसमे यादें नहीं, वो यादें ही क्या जिसमे तुम नहीं, ओर वो तुम ही क्या जिसके साथ हम नही ।।।।


18. चांद से कहो चमकना छोड़ दे, तारों से कहो टिमटिमाना छोड़ दे, तुम मुझसे मिलने नहि आती तो, अपनी यादों से कहो मुझे सताना छोड़ दे ।।।।


19. सुना है प्यार में उड़ जाती है नींद,{2} काश कोई हमे भी प्यार करे, क्योंकि हम बहोत आती है नींद ।।।।🤣🤣🤣🤣


20. आइना देखोगी तो मेरी याद आयेगी, साथ गुजरी वो मुलाकात याद आयेगी, पल भर के लिए वक्त ठहर जाएगा, जब आपको मेरी कोई बात याद आयेगी ।।।।


Dillagi Shayari

दिल्लगी शायरी


Leave a Reply

Your email address will not be published.